चुनाव से एक दिन पहले राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश के लोगों को पत्र लिखकर की यह अपील…

0
88
राहुल गांधी ने चुनाव से एक दिन पहले मध्यप्रदेश की जनता को लिखा खत. (फाइल फोटो)

विधानसभा चुनाव 2018
मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से एक दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वहां के लोगों से अपनी पार्टी के समर्थन के लिए पत्र लिखा है.

राहुल गांधी ने चुनाव से एक दिन पहले मध्यप्रदेश की जनता को लिखा खत. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से एक दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने वहां के लोगों से अपनी पार्टी के समर्थन के लिए पत्र लिखा है. राहुल गांधी मंगलवार को राज्य के लोगों से अपनी पार्टी के लिए समर्थन की अपील करते हुए कहा कि कांग्रेस अपने सभी वचनों को लेकर प्रतिबद्ध है और सरकार बनने के साथ ही इन पर अमल शुरू कर देगी. राज्य की जनता के नाम लिखे पत्र में राहुल गांधी ने किसानों का कर्ज माफी करने, बिजली की दर आधा करने, युवाओं को नौकरी और महिला विरोधी हिंसा के मामलों में त्वरित न्याय सुनिश्चित करने जैसे कांग्रेस के वादों का उल्लेख किया है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘मध्यप्रदेश मेरे लिए मात्र एक राज्य का नाम नहीं है. मेरे लिए मध्यप्रदेश किसानों की इच्छाशक्ति, बेटियों का आत्मबल, युवाओं की उम्मीद और गरीबों की जीत का नाम है. पिछले 15 वर्षों में मध्यप्रदेश की इस पहचान को नुकसान पहुंचाया गया है. यहां फसलों के दाम मांगने पर किसानों के सीने में गोलियां मार दी गईं, उनकी अपेक्षाओं को कुचला गया, युवाओं के अवसरों को अंधकार से भरा गया है, बेटियों के भविष्य में भय लिख दिया गया है.’
उन्होंने कहा, ‘याद कीजिए, मध्यप्रदेश पिछले 10-15 सालों में देश भर में चर्चा में किसलिए रहा है, लाखों युवाओं के भविष्य का घोटाला व्यापम, बेटियों के दुष्कर्म, सर्वाधिक कुपोषण, रेत माफिया, ई-टेंडर घोटाला, बुंदेलखंड पैकेज घोटाला इत्यादि.’ राहुल गांधी ने कहा, ‘यहां किसान सड़कों पर हैं, बेरोजगार, युवा दरबदर की ठोकरें खा रहा है, बेटियों का घर से निकलना मुश्किल है. मध्यप्रदेश को गौरव हासिल है सर्वाधिक आदिवासियों की आबादी का, मगर उनके वनाधिकार और आजीविका को छीना जा रहा है, उन्हें वनों से निकाला जा रहा है.’
उन्होंने कहा, ‘इन सब निराशाओं के बीच मध्यप्रदेश के नागरिकों को अब एक उम्मीद बंधी है कांग्रेस के वचन से. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘मेरा सीधा मानना है कि किसानों को कर्ज से उबारने का मतलब है – अर्थव्यवस्था को उबारना. किसान आर्थिक रूप से संपन्न होगा तो देश की अर्थव्यवस्था भी पटरी पर आएगी. मैं नहीं समझ पाता हूं कि भाजपा इसका विरोध क्यों कर रही है? मुझे खुशी है कि कांग्रेस के प्रयासों से देश की राजनीति का रुख़ किसान केंद्रित हो गया है.’
उन्होंने कहा, ‘अब उम्मीदों का नया सवेरा होने को है, मध्यप्रदेश तरक्की की नई उड़ान की तैयारी कर रहा है. प्रदेश के नागरिकों से अपील करना चाहता हूं, ‘अब बढ़ाओ कदम, मध्यप्रदेश को मिलकर, अच्छी सरकार देंगे हम.’ बता दें कि बुधवार को मध्यप्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए मतदान होगा. नतीजे 11 दिसंबर को घोषित होंगे.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY