राम की बात कर ठाठ में आये पर मंदिर नहीं बनाया,राम की बहुत बड़ी प्रतिमा बनाओ या अयोध्या को दीयों से जगमगाओ, लेकिन जब तक राम मंदिर नहीं बनता तब तक चैन नहीं: साध्वी ऋतम्भरा

0
116

राम की बात कर ठाठ में आये पर मंदिर नहीं बनाया,राम की बहुत बड़ी प्रतिमा बनाओ या अयोध्या को दीयों से जगमगाओ, लेकिन जब तक राम मंदिर नहीं बनता तब तक चैन नहीं: साध्वी ऋतम्भरा, VHP की धर्मसभा : भैय्याजी जोशी बोले- सत्ता में बैठे लोग जनभावनाओं का सम्मान करे, हम भीख नहीं मांग रहे! जब तक मोदी मंदिर नहीं बनाएंगे तब तक उन्हें गद्दी से उतरने नहीं देंगे – हंसदेवाचार्य
यह चुनावी मुद्दा है कहना गलत है. हर छह महीने में देश में कहीं ना कहीं चुनाव होते रहते हैं तो क्या हम हाथ पर हाथ धरे बैठे रहें, लोकतंत्र में जनता सर्वोपरि है, न्यायालय नहीं : सदाशिव कोगजे, अध्यक्ष, वीएचपी
हम चाहते हैं कि सब शांति और सद्भावना से हो. सब सकारात्मक पहल करे, इसकी अवशक्यता है. 2010 में लखनऊ बेंच ने इसको स्वीकार कर लिया लेकिन सर्वोच्च न्यायालय ने कुछ कमी देखी होगी तो हम उसे नज़रंदाज करने की अपील कर रहे हैं, कई महापुरशो ने स्वप्न देखा कि देश राम राज्य चाहता है. इसमें सुरक्षा है, प्यार है, शांति है, आस्था है,आंदोलन करते हुए यही चाहते हैं कि न्यायालय के प्रति अविश्वास का भाव ना जागे. इसलिए इसके पक्ष में फ़ैसला सुनाए. हिंदू भावनाओं का सम्मान करे कोर्ट, जो अयोध्या में ही मंदिर बनेगा और मंदिर बनाने की घोषणा उन्हीं लोगों ने करी है जो आज सत्ता में बैठे हैं. अब इस संकल्प को पूरा करने का समय आ गया है
अयोध्या के बाद अब दिल्ली में भी विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) की ओर से आयोजित धर्मसभा में देश भर के साधू संतों का जुटान हुआ है.दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित विराट धर्मसभा की में बड़ी संख्या में साधू-संत जुटे हैं. ऐसी संभावना है कि इस विराट धर्मसभा में करीब डेढ़ लाख लोग शामिल होने वाले हैं. यही वजह है कि ट्रैफिक को लेकर भी पुलिस ने एहतियात बरतना शुरू कर दिया है. इस रैली को देखते हुए रामलीला मैदान में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. रामलीला मैदान में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है, साथ ही सीसीटीवी कैमरे लगाए गये हैं. यातायात व्यवस्था का भी खासा ध्यान रखा गया है. बताया जा रहा है कि रामलीला मैदान में बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठा हो गई है. विश्व हिंदू परिषद ने गाजियाबाद, गौतम बुद्ध नगर, बागपत और मेरठ से लोगों को बुलाया है. यह सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक चलेगा.
वीएचपी के प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने कहा कि हमारी मांग है सरकार मौजूदा सत्र में कानून लाकर मन्दिर निर्माण में बाधा दूर करें
​आज यानी रविवार के दिन में 11 बजे प्रारम्भ होने वाली इस धर्म सभा को जूना अखाड़ा पीठाधीश्वर महा-मण्डलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी महाराज, श्रीजगन्नाथ पीठाधीश्वर जगद्गुरू रामानंदाचार्य स्वामी हंसदेवाचार्य, गीता मनीषी महा-मण्डलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद , युग पुरुष परमानंद , वात्सल्य ग्राम संस्थापक दीदी मां साध्वी ऋतंभरा, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश (भैया जी) जोशी, विश्व हिन्दू परिषद् के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) विष्णु सदाशिव कोकजे व कार्याध्यक्ष एडवोकेट आलोक कुमार सहित अनेक पूज्य संत व गणमान्य लोग संबोधित करने वाले हैं.
दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने आम लोगों से रामलीला मैदान के आस-पास वाले इलाकों से दूर रहने की सलाह दी है. रंजीत सिंह फ्लाईओवर पर गुरुनानक चौक से बाराखंबा रोड, विवेकानंद मार्ग पर दोनों तरफ, जवाहरलाल नेहरू मार्ग पर राजघाट से दिल्ली गेट तक, कमला मार्केट से गुरुनानक चौक तक और चमन लाल मार्ग से वीआईपी गेट रामलीला मैदान तक वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगी.
भैय्याजी जोशी ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कानून के अलावा कोई विकल्प नहीं है. बीजेपी राम मंदिर पर अपना किया संकल्प पूरा करे. 1992 में काम अधूरा रह गया था.
दिल्ली के रामलीला मैदान में विश्व हिंदू परिषद की बुलाई धर्मसभा शुरू हो गई है. रामलीला मैदान में बनाए गए विशेष मंच पर वीएचपी के बड़े पदाधिकारियों के साथ कई साधू और संत मौजूद हैं. इसमें बड़ी संख्या में साधू-संत उमड़े हैं.
बताया जा रहा है कि रामलीला मैदान में बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठा हो गई है. विश्व हिंदू परिषद ने गाजियाबाद, गौतम बुद्ध नगर, बागपत और मेरठ से लोगों को बुलाया है. बताया जा रहा है कि रामलीला मैदान में जुटी भीड़ ने गेट तोड़ दिया है.
आरएसएस के भैय्याजी जोशी ने धर्मसभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनेगा. सत्ता में बैठे लोग और कोर्ट लोगों की भावनाओं का सम्मान करें. कानून के जरिए मंदिर बनाने में बाधाओं को दूर किया जाए.’
ली बसों व अन्य वाहनों के लिए 16 जगह पार्किंग केंद्र बनाए गए हैं. हर पार्किंग स्थलों पर पीने के पानी, शौचालय और अनाउन्समेंट सिस्टम होंगे. उत्तर प्रदेश, हरियाणा व पंजाब से जुड़ने वाली राजधानी के सभी सीमाओं पर स्वागत द्वार बनाए जा रहे हैं. वहीं पर सभी राम भक्तों के लिए भोजन व पानी के पैकेट दिए जाएंगे. जगह-जगह मार्ग-दर्शिका लगाईं जाएंगी.
कार्यक्रम की भव्यता के दर्शन के साथ पूज्य संतों के प्रवचनों से वंचित न रहने पाएं. जगह-जगह भगवान श्री राम के बड़े-बड़े चित्र व कलश भी रखे गए हैं. जिनमें दिल्ली के राम भक्त अपने-अपने घरों से पूजित अपने साथ लाए संकल्प पुष्पों को अर्पित कर सकें. मेट्रो से आने वाले राम भक्तों के लिए नई दिल्ली मेट्रो स्टेशन सर्वाधिक नजदीक होने के कारण वहीं पर उतरने को कहा गया है.
​धर्मसभा की जानकारी देते हुए विहिप के क्षेत्र संगठन मंत्री करुणा प्रकाश ने बताया कि रामभक्तों की सुविधा के लिए सभा स्थल व आस-पास लगभग दो-तीन किलोमीटर तक दर्जन भर से अधिक बड़ी-बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाई गई हैं. जिससे जो लोग किसी कारणवश रामलीला मैदान ना भी पहुंच सकें तो वे जहां तक भी पहुंच सकें.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY